Follow by Email

Wednesday, 29 February 2012

सदा क्षम्य गुण-सूत्र, मगर कन्या न मारो --

पुत्र-जन्म देकर जगत, उऋण पितृ से होय ।
पुन्वंशा  कैसे  भला, माँ का  कर्ज  बिलोय ।

माँ का  कर्ज  बिलोय, जन्म पुत्रों को देती ।
रहती उनमें खोय, नहीं सृष्टी सुध लेती । 

सदा क्षम्य गुण-सूत्र, मगर कन्या न मारो ।
हुए पिता से उऋण,  कर्ज चुपचाप उतारो ।।

,

Sunday, 26 February 2012

शुभकामनायें मनोज एवं सविता जी


शुभकामनायें
 Very bright!
 मनोदेवता ने किया, मनोनयन मनमीत |
दिखे प्रीति या रुष्टता, होय युगल की जीत | 

होय युगल की जीत, परस्पर बढे भरोसा |
माता बनती मीत, संतती पाला पोषा |

मंगलमय हो साथ, स्वास्थ्य हो सबसे आला |
आगे पच्चिस साल,  डाल चांदी की माला || 

Wednesday, 22 February 2012

प्रवीण जी ने फेसबुक से विदा ली


क्षण भर चेहरे देख के, करें जरूरी काम |
बड़ा मुखौटा काम का, छूटे नशे तमाम |



छूटे नशे तमाम, नशे का बनता राजा |
छोड़ जरुरी काम, बुलाये आजा आजा |



कह रविकर रख होश, मुखौटा खोटे लागै |
रखकर सर पर पैर, सयाना सरपट भागै ||

Tuesday, 21 February 2012

जब था-ली भर-पेट, देख न मेरी थाली

जिस थाली में खा रहा, करे उसी में छेद ।
छल के छलनी दे बना, सत्तर सत्ता भेद ।

सत्तर सत्ता भेद, सूप की हंसी उडावे  ।
 करे चलय दिग्विजय, ताल से पानी लावे।

अपनी शर्ट सफ़ेद,  दाग से तेरी काली ।
जब था-ली भर-पेट, देख न मेरी थाली ।।

Wednesday, 8 February 2012

दुनिया देखे और, युवी का छह-छह छक्का-

Yuvraj Singh Aggression After three years in retirement, Lance Armstrong is looking for his 8th Tour de France victory

(Photo: Reuters)
छक्का छः मारे गजब, बड़ी 'आर्म-स्ट्राँग'।
छक के खाया दूध घी, माता से खुब माँग ।
17th Birthday with Mom
माता से खुब माँग, कैन्सर भी हारेगा ।
फिर से कुल मैदान, खेल के तू मारेगा ।

यह शबनम का पूत, करे फिर हक्का-बक्का ।
दुनिया देखे और, युवी का छह-छह छक्का ।।